ad

ads

मैंने उस लड़की को देखा....|Hindi stories

Hindi stories

hindi stories,love story in Hindi,hindi story,love story hindi movie,hindi shayari,love shayari,real love story in Hindi,sad love story in Hindi,real love story,sad story in Hindi,romantic story in Hindi,love kahani in Hindi,true love in Hindi,love kahani

ये बात है 2 साल पहले की है जब मैं bank के पेपर देने जा रहा था, मेरा centre इंदौर के एक college में था. Railway station से निकलते ही मैंने एक auto वाले को आवाज़ लगायी और जल्दी से बैठ गया. जब मैं अपने paper के center की तरफ ऑटो में बैठ कर जा रहा था तो कुछ ही दूरी पर एक लड़की खड़ी मेरे वाले ही auto को हाथ मार रही थी.



auto वाला: sir, एक और सवारी बिठा लू?



मैं: हाँ, बिठा लो but मैं पैसे थोड़े कम दूंगा.



auto वाला: ठीक है.


Hindi stories

लड़की अंदर आयी और auto वाले को उसी paper center जाने के लिए बोला जहाँ मैं जा रहा था, शायद वो भी paper देने ही जा रही थी.



अब auto में मैं और वो लड़की बैठे हुए थे, मैं अपनी ही धुन में था कि मैंने अचानक  मुझे एक मीठी सी प्यारी सी महक का एहसास हुआ, शायद उस लड़की ने बहुत अच्छा perfume लगाया हुआ था.

 मैंने उस लड़की को देखा, वो बहुत सुन्दर थी, लम्बे बाल, हलकी सी मुस्कान और खूबसूरत सी dress पहने हुई थी वो लड़की. लेकिन काफी tension में लग रही थी.



उसने मेरा admit card देखा तो उसे एहसास हुआ कि मैं भी paper देने जा रहा हूँ. बिना वक़्त गवाए उसने मुझे पुछा “आप भी bank  का paper देने जा रहे हो?”



“हां” मैंने कहा



उसने फिर पुछा “तयारी हो गयी आपकी ?”



मैंने कहा ”ठीक ठाक हो गयी”


मैंने उस लड़की से पुछा “आप इतना nervous क्यों है, tension है क्या ”


ladki ने कहा “मैं पिछले 6 months से इस paper  की preparing कर रही हू, मुझे tension है कि पता नहीं paper कैसा आएगा, मुझे किसी भी हालत में ये paper क्लियर करना है ”


Hindi stories

मैंने उस लड़की को तसल्ली देते हुए कहा ” आपका paper बहुत अच्छा जाएगा, आपने इतनी तयारी जो की है, tension मत लीजिये और nervous तो बिलकुल मत होईये”


उस लड़की ने thanks कहा और मेरा name पुछा। मैंने बताया कि मेरा नाम suraj choudhary  है. उस लड़की ने अपना नाम sunenda बताया. उस लड़की ने कहा कि paper ख़त्म होने के बाद हम मिलेंगे और मैंने भी हाँ कह दी.



paper  ख़त्म होने के बाद exam center के बाहर मैंने काफी देर sunenda का इंतज़ार किया लेकिन वो नहीं आयी, शायद भूल गयी होगी.

finally मैं घर जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचा. मेरी train करीबन 1 घंटे बाद आनी थी, मैं अकेला platform पर बनी एक सीट पर बैठा था, मरे सामने से एक train खड़ी थी, वो निकलने ही वाली थी.



तभी अचानक मैंने देखा sunenda जिसने कि पीला सूट पहना हुआ था, उसने ट्रैन की खिड़की से मुझे आवाज़ लगायी। मैं दौड़ कर उसके पास गया और मैंने पुछा “sunenda....पेपर कैसा हुआ तुम्हारा?”
उसने कहा अच्छा गया. मैं फिर पुछा “तुम paper के बाद मिलने नहीं आयी?” usne कहा “maine तुम्हे बहुत खोजा, तुम मिले ही नहीं, शायद ज़्यादा crowd की वजह से तुम मुझे दिखे नहीं”



तभी train ने अपना साईरन बजा दिया, train अब निकलने लगी थी और धीरे धीरे आगे बढ़ने लगी. मैं sunenda की आँखों में देख रहा था.


Hindi stories

अचानक sunenda ने अपने bag में से एक कागज़ निकाला और उस में कुछ लिख कर मेरे और फेंक दिया. जब मैंने वो कागज़ खोला तो देखा कि उसमे sunenda का फ़ोन नंबर था, मैंने हँसते हुए sunenda को बाय कहा और उस दिन से हमारी love story शुरू हो गयी.


हम आज भी साथ है और इत्तफाक से हम दोनों ने bank के paper भी clear कर लिए है. अभी training में है और नौकरी के बाद हम शादी कर लेंगे.



Dosto, agar aapko meri ye Indian Love Story in Hindi acchi lagi to comment me zarur bataye.


Thanks

For more stories
Hindi stories
मैंने उस लड़की को देखा....|Hindi stories  मैंने उस लड़की को देखा....|Hindi stories Reviewed by Rich Munda on March 04, 2019 Rating: 5

No comments:

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Powered by Blogger.